।।अथ मंगलाचरण।।गरीब नमो नमो सत् पुरूष कुं, नमस्कार गुरु कीन्ही। सुरनर मुनिजन साधवा, संतों सर्वस दीन्ही।1।सतगुरु साहिब संत सब डण्डौतम् प्रणाम। आगे पीछै मध्य हुए,

Read More

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए,जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए, जब गिरते हुए मैंने तेरे नाम लिया है,तो गिरने ना दिया तूने,

Read More